5 लाख तक सैलरी है, तो रिटर्न भरने की जरूरत नहीं.

नई दिल्ली।। पांच लाख रुपए तक सालाना सैलरी पाने वालों को इस साल से इनकम टैक्स रिटर्न भरने की जरूरत नहीं है। हालांकि, इसके लिए शर्त यह है कि किसी और सोर्स से कोई इनकम नहीं होनी चाहिए और सेविंग्स बैंकडिपॉजिट्स पर साल में 10 हजार रुपये से ज्यादा का ब्याज नहीं मिल रहा हो। शुक्रवार को सीबीडीटी (सेंट्रल बोर्ड ऑफ डायरेक्ट टैक्सेज़) ने यह जानकारी दी। अभी देश में करीब 85 लाख ऐसे लोग हैं, जिनकी बैंक डिपॉजिट जैसे दूसरे सोर्स समेत कमाई 5 लाख रुपए से ज्यादा नहीं है। 5 लाख सालाना वेतन का मतलब यहां डिडक्शन के बाद कुल आय से है।
ऐसे भरें खुद अपना इनकम टैक्स रिटर्न

सीबीडीटी के मुताबिक, रिटर्न फाइल करने से यह छूट तभी मिलेगी जब एंप्लॉयी ने अपने एंप्लॉयर को PAN दिया हो और सेविंग बैंक अकाउंट्स में मिले ब्याज की जानकारी फॉर्म 16 बनने से पहले ही दे दी गई हो। यह छूट उन लोगों को भी मिलेगी, जिनका टैक्स एंप्लॉयर ने टीडीएस के जरिए जमा कर दिया है। लेकिन अगर किसी को टैक्स रिफंड क्लेम करना हो तो उसे रिटर्न फाइल करना पड़ेगा। इस छूट का फायदा वे लोग भी नहीं उठा पाएंगे, जिन्हें टैक्स अथॉरिटीज़ ने इनकम टैक्स रिटर्न फाइल करने के लिए नोटिस जारी किया है।
इस नोटिफिकेशन से पहले इनकम टैक्स ऐक्ट 1961 के तहत सैलरी पाने वाले सभी लोगों के लिए इनकम टैक्स रिटर्न दाखिल करना जरूरी था। ऐसा देखा गया है कि ऐसे मामलों में जिनमें इनकम के दूसरे जरिये नहीं हैं, वहां रिटर्न दाखिल करना मौजूदा इंफॉर्मेशन का डुप्लिकेशन है।

5 लाख तक सैलरी है, तो रिटर्न भरने की जरूरत नहीं
5 लाख तक सैलरी है, तो रिटर्न भरने की जरूरत नहीं
0 Shares

You must be logged in to post a comment Login