सुभाष पार्क : पुलिस पर हमला, गाड़ियां तोड़ीं

 

 

सुभाष पार्क।। सुभाष पार्क में मेट्रो की खुदाई में मिली सदियों पुरानी दीवार पर मस्जिद बनाने के मसले पर हाई कोर्ट के आदेश पर घेरा डाले बैठे पुलिस वालों पर गुस्साए लोगों ने हमला बोल दिया। पथराव में 10 पुलिसवाले जख्मी हुए। 13 गाडि़यों में तोड़फोड़ और आगजनी की गई। पुलिस भीड़ में से महज दो लोगों को गिरफ्तार करने में कामयाब हो सकी।

यह घटना शनिवार आधी रात हुई। सुभाष पार्क में विवादित स्थल के आसपास घेरा डालकर सैकड़ों पुलिसकर्मी बैठे हुए थे। इसी दौरान आसपास जमा भीड़ में अफवाह फैल गई कि दीवार के ऊपर बनाई गई मस्जिद की दीवार को तोड़ा जा रहा है। यह अफवाह फैलते ही भीड़ ने पुलिस पर पथराव शुरू कर दिया। एक इंस्पेक्टर समेत 10 पुलिस वाले घायल हो गए। पुलिस की ओर से कोई जवाबी कार्रवाई नहीं की गई। गुस्साई भीड़ ने आसपास मौजूद पांच बाइक, दो डीटीसी बसों और छह कारों में तोड़फोड़ कर उनके शीशे चकनाचूर कर दिए। बाइकों को आग के हवाले कर दिया गया।

अडिशनल पुलिस कमिश्नर डी.सी. श्रीवास्तव ने बताया कि दंगा करने की धारा के तहत तीन मुकदमे दर्ज किए गए हैं। बलवे के बाद पुलिस सैकड़ों की भीड़ में से किसी तरह दो लोगों को पकड़ने में कामयाब हो सकी। उन्हें गिरफ्तार कर लिया गया। उनके नामों का खुलासा करने के लिए पुलिस तैयार नहीं है।

इसी मुद्दे पर रविवार को हिंदू संगठनों की बैठक हुई। बैठक की अध्यक्षता महामंडलेश्वर स्वामी राघवानंद जी महाराज ने की। इस मौके पर दिल्ली संत महामंडल के महामंत्री महंत नवल किशोर दास जी महाराज भी मौजूद थे। विश्व हिंदू परिषद के मीडिया प्रभारी विनोद बंसल ने बताया कि बैठक में राज्यव्यापी आंदोलन पर चर्चा की गई। हिंदू संगठनों का कहना है कि सुभाष पार्क में जिस पुरानी दीवार पर मस्जिद बनाई गई दरअसल वह पांडव कालीन मंदिर की दीवार है। बैठक में शनिवार रात असामाजिक तत्वों द्वारा पुलिस पर किए गए हमले की भी निंदा की गई।

सुभाष पार्क : पुलिस पर हमला, गाड़ियां तोड़ीं
0 Shares

You must be logged in to post a comment Login